सुकून की है तलाश तो करें भीमताल की वादियों का भ्रमण
आंखों की तलाश को पूरा करती खूबसूरती..सांसो को महकाती हरें पत्तों की खूशबू… कानों में गुनगुनाती ठण्डी हवाएं… नजरें जहां भी देखें वहां नजर आती है बस मुस्कुराती हुई चोटियां.. दिल जैसे हवा में उड़ रहे और बादलों के साथ बात कर रहा हो।

आंखों की तलाश को पूरा करती खूबसूरती..सांसो को महकाती हरें पत्तों की खूशबू… कानों में गुनगुनाती ठण्डी हवाएं… नजरें जहां भी देखें वहां नजर आती है बस मुस्कुराती हुई चोटियां.. दिल जैसे हवा में उड़ रहे और बादलों के साथ बात कर रहा हो। नदी का बहता पानी जैसे हमारे सारी परेशानी को लेकर बहा जा रहा हो.. कुछ ऐसा है भीमताल की वादियों का नजारा.. वो कहते है न कि देखने में तो हर पहाड़ एक जैसा लगता है… लेकिन हर हिल स्टेशन की अपनी एक अलग पहचान होती है… अगर खुद से मिलना चाहते हो या किसी अपने के साथ यादगार लम्हें संजोने हो तो भीमताल की वादियों में आपका स्वागत है…
भीमताल एक ऐसी खूबसूरत जगह है जहां जाकर सूकून आपसे ज्यादा देर तक दूर नहीं रह पायेगा। ये खूबसूरत हिलस्टेशन दिल्ली से महज 6 घंटे की दूरी पर हैं। अगर दिल्ली की प्रदूषित हवा से परेशान हो तो भीमताल की शुद्ध हवाएं आपका इंतजार कर रही हैं।
इस ट्रिप पर जाने के लिए मैं आपको पिक सीजन में बिल्कुल नहीं कहूंगी क्योंकि पिक सीजन में यहां काफी भीड़ होती हैं दिल्ली से नजदीक होने के कारण यहां लोग खूब आते हैं। इस लिए आप यहां ऑफ सीजन में आये असली खूबसूरती भीमताल की बारिश में बीच निखर कर आती हैं। ज्यादा बारिश होने पर पहाड़ो में ट्रेवल करने में खतरा होता हैं इसके लिए आपको सावधानी बरतनी पड़ेंगी ।
भीमताल एक लेक सिटी है, जिसका नाम महाभारत के सबसे बलशाली पात्र भीम के नाम पर पड़ा है। समुद्र तल से लगभग 1,370 मीटर की ऊंचाई पर स्थित भीमताल अपनी खूबसूरत झील के लिए पूरे दुनिया में जाना जाता है।
भीमताल को खूबसूरती के साथ-साथ यहां स्थित झील की वजह से भी यह पूरा इलाका जाना जाता है। इस झील की भौगोलिक स्थित और इसकी खूबसूरती को देख कश्मीर की डल झील की छवि सामने आती है।
अगर आप यहा ट्रेन से आ रहे है तो अपको काठगोदाम स्टेशन पर उतरना होगा यहा से भीमताल जाने का सफर टैक्सी से एक घंटे का हैं। आप अपनी गाड़ी से भी जा सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here