मकर संक्रांति से शुरू होगा ऐतिहासिक उत्तरायणी मेला

0
503

बागेश्वर। ऐतिहासिक, धार्मिक व व्यापारिक उत्तरायणी मेला सोमवार से शुरू होने जा रहा है। यह मेला मकर संक्रांति से एक सप्ताह तक चलेगा। कई राज्यों से आये व्यापारियों की टोलियां अपने-अपने सामान के साथ बागेश्वर पहुंच चुकी हैं। नगर पालिका भी इस बार उत्तरायणी मेले को यादगार बनाने में जुटी हुई है। मेला समिति को उम्मीद है कि पिछले सालों की अपेक्षा इस बार का मेला और भी अधिक भव्य होगा।
बागेश्वर में आस्था, विश्वास और श्रद्धा का पर्व उत्तरायणी मेला कल यानि मकर संक्रांति से शुरू हो जायेगा। जिसके लिये जिला प्रशासन ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। इसके लिए बाबा बागनाथ मंदिर को भव्य तरीके से सजाया गया है। सरयू और गोमती नदी पर बने पुलों को आकर्षक लाइटिंग से सजाया गया है। सरयू और गोमती नदी के संगम पर बने स्नान घाटों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। मेले में पहुंचने वाले लोगों के लिए घुड़सवारी के साथ-साथ याक और ऊंट की सवारी की व्यवस्था भी की गयी है। मनोंरजन के लिये मौत का कुआं और बड़े-बड़े झूले लगाये गये हैं। ऐतिहासिक नुमाइखेत मैदान में राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश सहित तमाम राज्यों से आये व्यापारियों को दुकानें आवंटित की गयी हैं। सरयू और गोमती नदी के किनारे अस्थाई दुकानों के स्टॉल लगाये गये हैं। पूरे मेला क्षेत्र ने सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं। मेले के दौरान यातायात में किसी भी तरह की बाधा न हो इसके लिये शहर से एक किलोमीटर दूर पार्किंग की व्यवस्था की गयी है। नगर पालिका परिषद के नव निर्वाचित अध्यक्ष सुरेश खेतवाल ने बताया कि इस बार मेले में विदेश में रहने वाले प्रवासी भारतीयों को भी आमंत्रित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here