इरानी गिरोह की महिला सदस्या गिरफ्तार

0
305

देहरादून। ’नकली पुलिस बनकर लोगो से चैकिंग के नाम पर ज्वैलरी ठगी करने वाले अंर्तराज्य ईरानी गैंग की एक महिला सदस्या, भारी मात्रा में ठगी की लाखो रुपये की ज्वैलरी के साथ लखनऊ से गिरफ्तार किया गया है।
मिली जानकारी के अनुसार सुनीता शर्मा पत्नी धीरेंद्र शर्मा निवासी 151 लुनिया मोहल्ला देहरादून ने चैकी धारा पर लिखित सूचना दी कि उनके पति धीरेंद्र शर्मा किसी काम से चकरौता रोड से जा रहे थे तभी दो व्यक्तियो ने उन्हें चक्खु मोहल्ला वाली गली में बुलाया, वह दोनों सादे वस्त्रो में थे, उनसे यह कहकर की वह पुलिस वाले है, यहां 26 जनवरी के कारण चैकिंग चल रही है, और उनकी तलाशी लेने लगे, और कहा कि आपके पास जो भी सोने की चीज है उसको एक रुमाल में रख लो , इनके पति ने दो अंगूठी और एक चाबी रुमाल में रख ली और इसी बीच उन्होंने बातों बातों मे रुमाल में से दोनों अंगूठियां गायब कर दी उसमे केवल चाबियां ही रह गयी थी। इस सूचना पर चैकी धारा पर उचित धाराओ में अभियोग पंजीकृत किया गया, प्रारंभिक पूछताछ पर पीड़ित श्री धीरेंद्र शर्मा द्वारा बताया कि उन दोनों व्यक्तियों के साथ एक महिला भी थी जो उनसे कुछ दूर खड़ी थी। उक्त समस्त घटना के संबंध में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को अवगत कराया गया तथा पूर्व में भी उक्त प्रकार की घटनाओ का देहरादून में होना प्रकाश में आया है, जिसको पुलिस द्वारा गंभीरता से लेते हुए उक्त घटनाओ के अनावरण हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए, जिसके अनुपालन में पुलिस अधीक्षक नगर के निकट पर्यवेक्षण में प्रभारी निरीक्षक के निर्देशन में वरिष्ठ उप निरीक्षक कोतवाली नगर के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया, टीम द्वारा घटना से संबंधित समस्त लोगो से बारीकी से पूछताछ की गई तथा घटना स्थल के आस पास व संदिग्ध व्यक्तियों के आने व जाने वाले रास्तो पर लगे सीसीटीवी कैमरे चेक किये गए, करीब 50 कैमरे चेक करने के बाद संदिग्धों की कुछ फोटोग्राफ प्राप्त हुई, जो प्रथम दृष्टया देखने मे तथा क्राइम की मोडस ऑपरेंडी में ईरानी गैंग के सदस्य होना प्रतीत हुआ, इसी इनपुट के माध्यम से सम्पूर्ण भारत मे रह रहे ईरानी गैंग के सदस्यों की पहचान हेतु इनके फोटोग्राफ पुलिस सूत्रों को व्हाट्सएप्प के माध्यम से प्रषित किये गए तथा, अन्य राज्यो की पुलिस से भी उक्त इनपुट को साझा किया गया, तमाम अन्य पुलिस टेक्टिक्स के बाद सूचना मिली कि जिन ईरानी गैंग के लोगो ने देहरादून में घटनाएं की है, वह मूल रूप से बीदर कर्नाटक के रहने वाले है, फोटो ग्राफ से यह अली मिर्जा व सिट्टी प्रतीत हो रहे हैं, और वर्तमान में लखनऊ में किराए पर रहकर उत्तरप्रदेश, राजिस्थान, मध्यप्रदेश,दिल्ली, हरियाणा, पंजाब व उत्तराखंड आदि राज्यो में घटनाओ को अंजाम दे रहे हैं, यह गैंग अपने साथ एक या दो महिलाओं को भी रखते हैं। उक्त सूचना का भली भांति परीक्षण कर एवं उक्त के संबंध में अन्य महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर उच्चाधिकारीगनो को अवगत कराकर पुलिस महानिरीक्षक से अनुमति प्राप्त कर थाना कोतवाली नगर से एक टीम को लखनऊ रवाना किया गया , टीम द्वारा कुशलता का परिचय देते हुए लगातार लोकल इंफोरनर्स से इनके संबंध में जानकारी करते हुए करीब 8 दिन तक सुरागरसी करते हुए सूचना मिली कि दोनों अभियुक्त एक महिला के साथ ज्वैलरी बेचने के लिए आ रहें हैं, महिला को इसलिए अपने साथ लाते हैं कि कोई ज्वैलरी को देखकर शक न करे, इस सूचना पर सभी पुलिस टेक्टिक्स का पालन करते हुए आने वाले रास्ते पर घेराबंदी की गई, जिसमे उक्त महिला को ठगी की गई भारी मात्रा में ज्वेलरी के साथ गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की गई , तथा मोके से अन्य दो आरोपी घनी आबादी व संकरी गलियों का फायदा उठाकर फरार होने में सफल रहे हैं, जिनकी टीम द्वारा लगातार तलाश जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here