धनोल्टी से महावीर ने ठोकी ताल चुनाव लड़ने की जताई मनसा

0
396

धनौल्टी,, 2019 के लिए तैयारियों में जुटी भाजपा में अब दावेदार सामने आने लगे हैं। कुछ सीटों पर नये चेहरों की सुगबुगाहट से नये दावेदारों की उम्मीद बढा दी है। इनमें से कुछ प्रत्याशियों के द्वारा चुनाव न लडने की घोषणा तो कुछ में सिटिंग सांसद का टिकट कटने की आशंका जतायी जा रही है। जनपद पौडी  में वर्तमान सांसद भुवन चंद खंडूरी चुनाव न लडने की घोषणा कर चुके हैं तो नैनीताल से वर्तमान सांसद भगत सिंह कोश्यारी भी चुनाव न लडने की बात साफ कर चुके हैं। ऐंसे में इन सीटों पर कई दावेदार सामने आ रहे हैं। लेकिन टिहरी का रण दिलचस्प बनता जा रहा है। टिहरी से वर्तमान में महारानी राज लक्ष्मी सांसद है,लेकिन इस सीट को लेकर भाजपा में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। रानी पार्टी के लिए जिताउ प्रत्याशी है अथवा नही यह सवाल बना हुआ है। वर्तमान में टिहरी से पूर्व विधायक धनौल्टी एवं वर्तमान में गढवाल मंडल विकास निगम के अध्यक्ष महावीर िंसंह रांगड ने दावेदारी ठोक दी है। रांगड क्षेत्र में जमीनी नेता माने जाते हैं और 2012 में धनोल्टी से विधायक बनने से पहले थत्यूड के ब्लाक प्रमुख रह चुके हैं। जौनसार क्षेत्र में युवाओं के बीच अच्छी घुसपैठ के चलते रांगड क्षेत्र के दमदार नेता माने जाते हें। 2017 में रांगड को पार्टी की ओर से टिकट नही मिला,लेकिन वह पार्टी के लिए कार्य करते रहे। इसी कारण उन्हें सरकार में दायित्व दिया गया। मुख्यमंत्री के करीबी होने के कारण रांगड की दावेदारी को काफी अहम माना जा रहा है। रानी भी इस सीट पर अपने टिकट को लेकर पूरी तरह से आशान्वित नही मानी जा रही है। कुछ मौकों पर वह अपने टिकट को लेकर साजिश की आशंका भी जाहिर कर चुकी है। पूर्व में इस सीट से सांसद रहे विजय बहुगुणा की दावेदारी भी अभी पुख्ता नही हो पायी है और इन परिस्थितियों में पार्टी की ओर से किसी युवा को आगे बढाने के विकल्प को भी आजमाया जा सकता है। ऐंसे में टिहरी की जंग दिलचस्प होने के आसार बन रहे हैं और राज्य के तीन सीटों पर भाजपा नये चेहरे आजमा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here