केदारनाथ-बद्रीनाथ मदिर परिसर से बर्फ हटाना बना चुनौती

0
312

देहरादून। उत्तराखण्ड में चारधाम यात्रा शुरू होने को है. ऐसे में यात्रा व्यवस्थाओं को दुरुस्त करना प्रशासन के साथ-साथ मंदिर समिति के लिए चुनौतीपूर्ण है। आखिर कैसे इतने कम दिनों में दोनों बद्रीनाथ और केदारनाथ धाम में यात्रा व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया जाए। इस साल बद्रीनाथ और केदारनाथ धाम में भारी बर्फबारी होने के चलते मंदिर समति को मंदिर परिसर से बर्फ हटाने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है।बर्फबारी के चलते दोनों धामों में बिजली और पानी की व्यवस्थाएं बुरी तरह प्रभावित हुई हैं। बद्रीनाथ धाम में बर्फबारी के कारण तप्त कुंड व आस पास की जगहें भी क्षतिग्रस्त हुई हैं। मंदिर समति अध्यक्ष मोहन थपलियाल की माने तो मंदिर समिति के कर्मचारियों के साथ ही दैनिक मजदूरों की मदद से दोनों धामों में यात्रा व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया जा रहा है। बद्रीनाथ धाम का दौरा करने के बाद अब वह केदारनाथ धाम का भी पैदल मार्ग से दौरा करेंगे। मार्ग में आने वाली दिक्कतों से मोहन थपलियाल स्वयं वाकिफ होना चाहते हैं।ताकि यात्रा शुरू होने से पहले ही उनकी मरम्मत समय से करा दी जाए. बताते चलें कि केदारनाथ धाम के कपाट इस साल 9 मई को जबकि बद्रीनाथ धाम के कपाट 10 मई को आम श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here