इस बार फिर गुरु पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण

0
245

देहरादून। आषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा पर 16-17 जुलाई की रात चंद्रग्रहण होने जा रहा है। चंद्रग्रहण रात 1.32 बजे शुरू होगा, जिसका मोक्ष तड़के 4.30 बजे होगा। ग्रहण की अवधि 2 घंटा 58 मिनट रहेगी। जबकि ग्रहण का सूतक 16 जुलाई की अपराह्न 4.26 बजे से लगेगा। गुरु पूर्णिमा पूजन सूतक काल से पहले किया जाना श्रेयष्कर रहेगा। ज्योतिषियों के अनुसार चंद्रग्रहण का विभिन्न राशियों पर भी असर होगा। यह चंद्रग्रहण भारत समेत एशिया, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिणी अमेरिका में दिखाई देगा। श्री महादेव गिरि संस्कृत महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. नवीन चंद्र जोशी के अनुसार भारत में दिखाई देने से यहां ग्रहण को लेकर धार्मिक परंपराओं का पालन किया जाएगा। ग्रहण काल समाप्त होने पर स्नान से निवृत्त होकर राशि के अनुसार दान-कर्म करने की मान्यता है, जिससे बुरा असर कम होता है।आषाढ़ पूर्णिमा पर गुरु पूर्णिमा भी है। गुरु पूजन के लिए इस दिन का विशेष महत्व है। 2018 में भी आषाढ़ पूर्णिमा पर खग्रास चंद्रग्रहण था। ज्योतिषाचार्य डॉ. गोपाल दत्त त्रिपाठी के अनुसार ग्रहण का सूतक लगने से पहले सभी धार्मिक अनुष्ठान कर लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here