मेडिटरेनीयन डाइट लेने से गर्भवती के स्‍वास्‍थ्‍य परिणाम बेहतर

0
248

गर्भावस्‍था के दौरान मेडिटरेनीयन डाइट लेने से गर्भवती के स्‍वास्‍थ्‍य परिणाम बेहतर होते हैं

नये क्‍लीनिकल अध्‍ययनों में मेडिटरेनीयन डाइट का गर्भवती तथा गर्भस्‍थ शिशु पर पड़ने वाले प्रभाव का अध्‍ययन किया गया, ट्री नट्स खासतौर से अखरोट और एक्‍स्‍ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल प्रमुख भोजन माने गये

एक नये क्‍लीनिकल अध्‍ययन में यह पाया गया कि जो महिलाएं गर्भावस्‍था के दौरान मेडिटरेनीयन स्‍टाइल का डाइट लेती हैं, जिसमें रोजाना ट्री नट्स (आधा हिस्‍सा अखरोट का हो) और एक्‍स्‍ट्रा वर्जिन ऑयल शामिल होता है, उनमें गर्भावस्‍था के दौरान होने वाले डायबिटीज का खतरा 35 प्रतिशत तक कम हो जाता है। साथ ही उन महिलाओं की तुलना में 1.25 किलोग्राम वजन कम बढ़ता है जिन्‍हें गर्भावस्‍था के दौरान अच्‍छी देखभाल मिलती है।

मेडिटरेनीयन स्‍टाइल डाइट अच्‍छे, अनसैचुरेटेड फैट से भरपूर होता है, ये चीजें अखरोट और एक्‍स्‍ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल में पाया जाती हैं। 2018 में ‘लैंडमार्क प्रीडाइम्‍ड स्‍टडी’ में पाया गया है कि इससे वयस्‍कों में हार्ट अटैक, स्‍ट्रोक और कार्डियोवैस्कुलर मौतों का खतरा कम हो जाता है। अखरोट में ओमेगा 3-एएलए कंटेंट (2.7ग्राम/30ग्राम) होने की वजह से मेडिटरेनीयन डाइट में यह पारंपरिक रूप से शामिल होता है। यह एकमात्र ऐसा नट होता है जिसमें आवश्‍यक फैटी एसिड और बायोएक्टिव कम्‍पाउंड काफी ज्‍यादा मात्रा में होते हैं । मेडिटरेनीयन डाइट का गर्भवती की मानसिक सेहत तथा गर्भस्‍थ शिशु पर उसका क्‍या प्रभाव पड़ता है इसे लेकर काफी गहन अध्‍ययन किये गये हैं। उन अध्‍ययनों का आकलन बड़े पैमाने पर किया गया है, जिससे यह अध्‍ययन काफी बहुमूल्‍य होता जा रहा है।

लंदन के ‘क्‍वीन मैरी यूनिवर्सिटी और ‘यूनिवर्सिटी ऑफ वॉरविक’ में संपन्‍न हुए इस नये अध्‍ययन में 1,252 मल्‍टी-एथेनिक इनर सिटी प्रेग्‍नेंट महिलाओं को शामिल किया गया, जिनमें मेटाबॉलिक जोखिम जैसे मोटापा और क्रॉनिक हाइपरटेंशन होने का खतरा ज्‍यादा था। फॉलिक एसिड तथा विटामिन डी सप्‍लीमेंट के अलावा उन महिलाओं को कभी मेडिटरेनीयन डाइट दी जाती थी या एक कंट्रोल ग्रुप को यूके के अंतरराष्‍ट्रीय मानकों के हिसाब से वह खाना दिया गया जोकि गर्भावस्‍था के दौरान गर्भवती की सेहत तथा वजन को नियंत्रित करने के लिये दिया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here