सिद्धि योग में रक्षासूत्र बांधे

0
319

देहरादून। भाई-बहन के प्यार का प्रतीक ‘रक्षाबंधन’ का पवित्र त्योहार द्रोणनगरी में हर्षोल्लास से मनाया गया। बहन ने भाई की कलाई पर प्रेम की डोर बांधी, तो भाई ने भी बहनों की जीवन भर रक्षा करने का संकल्प लिया। खास बात रही कि हर भाई ने बहन को जो उपहार भेंट किए, बहन ने भी उसका कीमत से नहीं आंका, बल्कि उसमें छिपे प्यार को महत्व दिया।

गुरुवार सुबह से ही रक्षाबंधन पर्व पर राखी बांधने का सिलसिला शुरू हो गया। बहन ने भाई के माथे पर लाल तिलक लगाकर हाथ की कलाई में रक्षा सूत्र बांधा और मिठाई खिलाई। इसके बाद भाइयों ने बहनों को उपहार भेंट किए।

ऐसा नहीं है कि रक्षाबंधन का पर्व भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक है, बल्कि इस प्रेम के पर्व को पर्यावरण प्रेमियों ने भी प्रकृति के साथ मनाया। कई पर्यावरण प्रेमियों ने पेड़ों में रक्षासूत्र बांधकर प्रकृति की रक्षा का संकल्प लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here