पीएम मोदी की तारीफों को लेकर कांग्रेसियों में बढी अंर्तकलह

0
279

देहरादून। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के नेताओं के बीच आजकल पीएम नरेंद्र मोदी लोकप्रिय हो गए हैं। यूपीए सरकार में मंत्री रहे कई नेता आजकल पीएम मोदी की तारीफ के कसीदे पढ़ रहे हैं, जिससे परेशान कांग्रेस के ही नेता उन पर पलटवार करने लगे हैं। इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस के अंदर ही शीतयुद्ध जैसा माहौल पैदा हो गया है, जिससे परेशान कांग्रेस महासचिव हरीश रावत ने पीएम की तारीफ करने वाले नेताओं को जमकर खरी-खोटी सुना दी।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का क्रेज अब कांग्रेसी नेताओं के भी सिर चढ़ कर बोल रहा है। इसकी शुरुआत यूपीए सरकार में मंत्री और कांग्रेस के थिंक टैंक के सदस्य माने जाने वाले जयराम रमेश ने की थी। एक निजी अखबार को दिए इंटरव्यू में जयराम ने कहा था कि, कांग्रेस पार्टी को हर मुद्दे पर पीएम नरेंद्र मोदी की आलोचना नहीं करनी चाहिए। इसके बाद शशि थरूर, अभिषेक मनु सिंघवी भी जयराम के समर्थन में उतर आए।
कांग्रेस के अंदर मोदी की तारीफ कर रहे इन नेताओं को पार्टी के कई नेताओं का विरोध भी झेलना पड़ा जिसके बाद कांग्रेस दो खेमों में बंटती नजर आई. पूर्व मंत्री वीरप्पा मोइली ने जयराम रमेश पर निशाना साधते हुए कहा कि यूपीए के कार्यकाल में जयराम रमेश की वजह से सरकार का ग्राफ गिरा. आपस में उलझी कांग्रेस की इस स्थिति पर पार्टी महासचिव हरीश रावत ने चिंता व्यक्त की है। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और एआईसीसी के महासचिव हरीश रावत ने पीएम मोदी की तारीफ कर रहे कांग्रेस नेताओं को जमकर खरी-खोटी सुनाई। हरीश रावत ने कहा कि, “कांग्रेस को ठीक करने के लिए फिट इंडिया कैम्पेन चलाना होगा। जिन नेताओं के पास काम नहीं है वे पदयात्रा ही शुरू कर लें. इसी बहाने पार्टी प्रदेश में खड़ी हो जाएगी। पार्टी जिला और ब्लॉक स्तर पर भी मजबूत होगी। पार्टी को ग्रास रूट लेवल से ठीक करने की जरूरत है। कुछ नेता पार्टी को ऊपर से ठीक करने में लगे हैं। नेताओं की अगर कोई राय है तो वे पार्टी फोरम पर अपनी बात कहें, अपने बयानों का मीडियाकरण न करें। कांग्रेस एक लोकतांत्रिक पार्टी है. यहां सबको अपना विचार रखने का हक है. नेता अपनी बात पार्टी आलाकमान तक आसानी से पहुंचा सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here