प्रशासन से भड़के ग्रामीण

0
413

राजेन्द्र सिह चौहान

मोरी ।

आपदा पीड़ितों ने कल तहसीलदार मोरी
मुलाकातकर क्षेत्र में हो रहे आपदा के कामों के प्रति नाराजगी जाहिर की उनहोंने ने आरोप लगाया की जब से जिलाधिकारी उततरकाशी आराकोट से गये हैं काम करने की गती कम हो गयी है। ख़ासकर लोक निर्माण विभाग पुरोला नाराजगी जताई
पीडितो ने आरोप लगाया कि लोनिवि पुरोला ने चार जेसीबी अपने विश्राम गृह के लिए रोड बनाने के लिए लगा रखी है जिसकी दूरी मात्र 50 मीटर है । उनहोंने आरोप लगाया कि लोनिवि पुरोला ने क्षेत्र की अनदेखी कर रही है । इसी के मध्य नजर पीडितो ने तहसीलदार मोरी को ज्ञापन सौंपा जिसमें राष्ट्रीय राजमार्ग पर तयूनी आराकोट पर आराकोट में जाम लगाने से लेकर आत्म दाह तक की धमकी भी दे डाली थी। जिसके लिए सभी लोग आज आराकोट में जमा होगये।
आपदा से पीड़ित ग्रामीणों ने आराकोट में आज राष्ट्रीय राजमार्ग 707बी पर जाम लगाने व यातायात को पूर्ण बंद करने का प्रयास कर रहे थे। उसी समय कल रात को एक शिष्ट मंडल पूर्व गृह मंत्री व कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रितम सिह से बात की उनहोंने मुख्य सचिव उत्तराखण्ड से बात कीे । पूर्व गृह मंत्री ने कहा कि अगर 8अगस्त तक अगर सरकार आपकी बातें नही मानेगी तो मै भी स्वयं आकर आपके साथ धरने पर बैठुगा । यह बात शिष्ट मंडल ने अपने साथियों को बताई तो वह मान गये । धरने को स्थगित करने का निर्णय लिया ।इसी दौरान सी ओ बडकोट श्रीधर बडोला भी आपदा पीड़ितों के मध्य आगये। और उनहोंने ने भी खास कर मौडा बलावट चिवां जागटा थापली किराणु दुचाणु झोटाडी गोकुल वरनाली माकुडी के ग्रामीणों को अशवासन दिया कि अगर कोई अधिकारी जिले से नहीं आयेंगे तो मै आप लोगों की बात जिलाधिकारी उततरकाशी को रखुगा । लेकिन कुछ समय बाद अपर जिलाधिकारी उततरकाशी तीर्थ पाल सिंह व उपजिलाधिकारी पुरोला अनुराग आर्य भी आपदा पीड़ितों के हाल जानने आराकोट पहुँच गये पीड़ितों ने उनको घेर कर बात की।अपर जिलाधिकारी व उपजिलाधिकारी ने पीड़ितों की एक एक बात सूनी और कहा की आप की मुख्य मांगे क्या है।पीड़ितों ने कहा हमे सेब का समर्थन मूल्य भटवाडी की तर्ज पर , कृषि ॠण को माफ किया जाय। लोनिवि अपनी कार्य शैली सुधारे। उनहोंने ने आरोप लगाया कि आपदा पैसे का सही उपयोग हो ,सेबों क्षतिपूर्ति का शीघ्र आंकलन किया जाय । जिससे उचित मूल्य मिल सके ।अपर जिलाधिकारी ने सभी मांगो का आश्वासन दिया तथा शीघ्र क्षतिपूर्ति का आंकलन कर रिपोर्ट शासन को भेजेगे। और स्वयं आपदा क्षेत्र में किये जा रहें कामों का निरिक्षण करूंगा । इस अवसर पर तहसीलदार मोरी बुद्धि राम सरयाल, राजस्व उपनिरीक्षक जवर सिंह असवाल थाना अध्यक्ष तयूनी बी एल भारती अवर अभियंता लघु सिंचाई त्रयमवक गैरोला तथा ग्रामीणों में मनमोहन चौहान दिनेश चौहान खजाने सिंह हरिश शुरवीर सिंह मनीष पबित्रादेवी मधु चौहान निर्मला विरेनदरी रक्षा ऊषा कमला सहित सैकड़ों आपदा पीडित मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here