भाजपा विधायक काऊ ने दिया नोटिस का जवाब,शिकायती पत्र भी सौंपा

0
211

देहरादून। पंचायत चुनाव में पार्टी प्रत्याशी के विरुद्ध चुनाव प्रचार करने के आरोपों से घिरे रायपुर के बीजेपी विधायक उमेश शर्मा का पार्टी के सख्त रुख के बाद बैकफुट पर आ गए हैं। बीजेपी ने एक ऑडियो वायरल होने के बाद और पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के बाद उमेश शर्मा काऊ को कारण बताओ नोटिस जारी किया था। काऊ ने नोटिस की अवधि 3 दिन के अंदर अपना जवाब पार्टी को सौंप दिया है। इसके साथ ही काऊ ने पार्टी को एक शिकायती पत्र भी सौंपा है। माना जा रहा है कि इससे बीजेपी में बवाल बढ़ सकता है। बता दें कि देहरादून जिले की ‘अस्थल’ जिला पंचायत सदस्य सीट पर बीजेपी प्रत्याशी बीर सिंह चैहान ने आरोप लगाया था कि रायपुर और मसूरी विधानसभा क्षेत्र में पड़ने वाली इस सीट पर उन्हें पर्याप्त समर्थन नहीं मिल रहा है। चैहान ने स्पष्ट शब्दों में रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ पर विरोधी प्रत्याशी का समर्थन करने का आरोप लगाया था।
चैहान ने बाकायदा काऊ की शिकायत बीजेपी संगठन को भी की थी। संगठन के अलावा चैहान ने मुख्यमंत्री को भी शिकायत की थी। उन्होंने पार्टी संगठन को एक ऑडियो क्लिप भी सौंपी थी जिसमें कथित रूप से काऊ अपने समर्थकों से किसी और प्रत्याशी को जिताने के लिए वोट देने की मांग कर रहे थे।
बीजेपी ने इस शिकायत को गंभीरता से लेते हुए काऊ को 6 अक्टूबर को कारण नोटिस जारी कर दिया था और तीन दिन में स्पष्टीकरण मांगा था। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने यह भी कहा था कि पार्ट के खिलाफ काम करने वाला चाहे कितना भी बड़ा नेता क्यों न हो उसके खिलाफ पार्टी सख्त कार्रवाई करेगी। उमेश शर्मा काऊ इस मामले पर टिप्पणी करने से बचते रहे हैं।
आज काऊ ने कारण बताओ नोटिस का जवाब दे दिया है। सूत्र बता रहे हैं कि स्पष्टीकरण के साथ ही रायपुर विधायक ने शिकायती पत्र भी दिया है। बीजेपी कार्यालय में काऊ ने कार्यालय प्रभारी पार्टी महामंत्री खजानदास को बंद लिफाफे में अपना जवाब और शिकायती पत्र सौंपा। उन्होंने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, प्रदेश प्रभारी और प्रदेश अध्यक्ष को भी पत्र भेजे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here