देश सेवा के लिए भारतीय सेना शानदार करियरः धनोआ

0
259

मसूरी। सेवानिवृत एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने कहा कि अगर आप देश सेवा करना चाहते हैं तो भारतीय सेना में अपना शानदार करियर शुरू कर सकते हैं। यह एक नोबल प्रोफेशन है और मेरी राय में इससे अच्छा कोई प्रोफेशन नहीं है। उन्होंने कहा कि एक शिक्षक आपका जीवन बदल सकता है इसलिए शिक्षकों का सम्मान करें और आपको जो शिक्षा देते हैं उसको मन लगाकर ग्रहण करें। यह बात उन्होंने रविवार को गुरुनानक फिफ्थ सेंटेनरी स्कूल के दो दिवसीय स्वर्ण जयंती स्थापना दिवस समारोह के दौरान कही। स्कूल स्थापना दिवस के दूसरे दिन स्कूल ऑडिटोरियम में छात्रों को संबोधित करते हुए सेवानिवृत एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने कहा कि आपके सामने भविष्य के लिए एक लक्ष्य होना चाहिए और उस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आपमें मेहनत करने का जज्बा होना चाहिए। मेहनत कभी भी बेकार नहीं जाती है और जीवन में शुरुआती असफलताओं से बिल्कुल नहीं घबराना चाहिए। आप को अपने ऊपर विश्वास है और आपके अंदर नेतृत्व क्षमता है तो भविष्य में सफलता आपके कदम चूमेगी।
बीएस धनोआ ने कहा कि एक शिक्षक आपका जीवन बदलने की क्षमता रखता है। उन्होंने अपना उदाहरण देते हुए कहा कि जब मैं स्कूल में था तो गणित में बहुत कमजोर था, लेकिन शिक्षक के मार्गदर्शन से मैं गणित में पारंगत हुआ और बाद में मेरा चयन भारतीय वायु सेना में हुआ। उन्होंने बच्चों को मिग 21 में सवार खुद की तथा बालाकोट एअर स्ट्राइक की फोटो भी भेंट की। स्कूल प्रबंधन समिति सचिव एमपी सिंह ने मुख्य अतिथि सहित कार्यक्रम में मौजूद सभी का आभार व्यक्त किया।
समारोह में स्कूल के छात्र-छात्राओं ने लघु नाटक एवं रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। अकादमिक, स्पोट्र्स आदि में वर्ष भर में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्रों को मुख्य अतिथि ने पुरस्कार प्रदान किए। स्कूल प्रबंधन द्वारा स्कूल के कर्मचारियों को उनकी सेवा अवधि के अनुसार प्रतिवर्ष पांच हजार रुपये के हिसाब से स्पेशल बोनस के चेक भी दिए गये।
समारोह में स्कूल प्रबंधन समिति उपाध्यक्ष अमृतकौर सब्बरवाल, प्रिंसिपल अनिल तिवारी, डीन निर्मलदीप साहनी, प्रशासनिक अधिकारी सुनील बख्शी, पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता, क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड के अध्यक्ष जोतसिंह गुनसोला, पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल, पालिका सभाषद जसबीर कौर, डॉ. सुनील सेनन आदि शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here