व्हाट्सऐप पर लगा टैक्स, भड़के लेबनान के लोग

0
188

लेबनान। लेबनान सरकार ने व्हाट्सऐप कॉल पर टैक्स लगाने के अपने फैसले को वापस ले लिया है। इसके बावजूद वहां प्रदर्शन जारी हैं। गुरुवार को सरकार ने घोषणा की थी कि व्हाट्सऐप, फेसबुक मैसेंजर और ऐप्पल फेस टाइम जैसे ऐप के जरिए किए जाने वाले कॉल पर रोजाना टैक्स लगेगा। इन ऐप्स के जरिए कॉलिंग करने वालों को रोजाना $0.20 का टैक्स देना पड़ता, जो भारतीय रुपए में करीब साढ़े 14 रुपए के बराबर होता। लेकिन सुरक्षाबलों और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झड़पों के कुछ घंटे बाद ही सरकार ने इस फैसले को वापस ले लिया।
देश में चल रहे आर्थिक संकट से निपटने के सरकार के तरीकों से नाराज हजारों लोग सड़कों पर उतरे और प्रधानमंत्री से इस्तीफा देने की मांग की। प्रदर्शनकारियों ने सड़कों पर टायर फूंके. भीड़ को तितर-बितर करने के लिए सुरक्षाबलों ने आंसू गैस का इस्तेमाल किया। इन हिंसक झड़पों में दर्जनों लोग घायल हो गए।
े लेबनान के प्रधानमंत्री साद अल-हरीरी ने कहा कि देश बहुत मुश्किल दौर से गुजर रहा है, लेकिन उन्होंने इस्तीफा देने से इनकार कर दिया.लेबनान आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है। कई लोग सरकार को इसके लिए जिम्मेदार मान रहे हैं। नाराज लोग हजारों की तादाद में प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनों में शामिल एक चार्टर्ड अकाउंटेट ने कहा कि मैं घर पर बैठा था और मैंने लोगों को प्रदर्शनों के लिए घरों से निकलते देखा, इसलिए मैं भी निकल पड़ा।
उन्होंने कहा कि मैं शादीशुदा हूं, मैंने लोगों से पैसे उधार ले रखे हैं और हर महीने ये कर्ज बढ़ता जा रहा है। और मैं काम नहीं कर रहा हूं. ये सरकार की गलती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here