पंचायत प्रमुख पद पर रुद्रप्रयाग में खाता तक नहीं खोल पाई भाजपा, अल्मोड़ा में भी निराशा

0
156

देहरादून। हरिद्वार को छोड़ राज्य के शेष 12 जिलों में 89 क्षेत्र पंचायतों में प्रमुख की कुर्सी हथियाने के मामले में भले ही भाजपा का दबदबा रहा हो, मगर दो जिलों रुद्रप्रयाग और अल्मोड़ा के नतीजों ने उसे मंथन करने को मजबूर कर दिया है। रुद्रप्रयाग में प्रमुख पदों के चुनाव में भाजपा खाता नहीं खोल पाई, जबकि अल्मोड़ा जिले में 11 पदों में से केवल दो पर ही भाजपा प्रत्याशी जीत दर्ज करने में कामयाब हो पाए। ओवरऑल देखें तो ब्लाक प्रमुखों के चुनाव में भाजपा ने शानदार जीत हासिल की। पार्टी ने 89 में 76 पर अपने उम्मीदवार मैदान में उतारे थे। भाजपा के अनुसार इनमें से 53 सीटों पर उसके प्रत्याशियों ने जीत हासिल की है।
अलबत्ता, तीन क्षेत्र पंचायतों वाले रुद्रप्रयाग जिले में भाजपा के खाते में प्रमुख पद पर उसे मात खानी पड़ी है। ऐसी ही स्थिति अल्मोड़ा में भी रही है। भाजपा सूत्रों के मुताबिक जिन जिलों में ब्लाक प्रमुख के चुनाव में पार्टी का प्रदर्शन आशानुरूप नहीं रहा, वहां इसके कारणों को लेकर मंथन शुरू हो गया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद अजय भट्ट ने प्रदेश में ब्लाक प्रमुखों के चुनाव में भाजपा को मिली सफलता को ऐतिहासिक बताया। चुनाव परिणाम पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा ने ब्लाक प्रमुख पदों पर जितने प्रत्याशी खड़े किए थे, उनमें से 70 फीसद विजयी रहे। इससे साफ है कि जनता ने एक बार फिर भाजपा पर विश्वास किया है। उन्होंने दावा किया कि ब्लाक प्रमुख पदों पर निर्दलीय जीते प्रत्याशियों में भी अधिकांश भाजपा के समर्थन में हैं। उन्होंने कहा कि अब भाजपा विकास कार्यों को तेजी से आगे बढ़ाते हुए जनअपेक्षाओं को पूरा करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here