केंद्र से बाढ़ राहत राशि लेने के लिए मांगा साथ

0
202

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने प्रदेश के सभी सांसदों को पत्र लिखकर केंद्र सरकार से बाढ़ राहत राशि लेने के लिए साथ आने की अपील की है. मोदी सरकार पर मध्य प्रदेश से सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए दिग्विजय सिंह ने राज्य में लोकसभा के 29 और राज्यसभा के 10 सदस्यों को एक पत्र भेजा है.

दिग्विजय सिंह ने अपने पत्र में केन्द्र सरकार द्वारा प्राकृतिक आपदा सहित विकास मूलक योजनाओं में किए जा रहे भेदभाव का आरोप लगाया है. पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने जारी पत्र में कहा कि इस साल बाढ़ और अतिवृष्टि ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. लाखों किसानों की फसलें चौपट हो गईं.

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि प्रदेश की जनता के विश्वास और विवेक को राजनीतिक चश्मे से देखने का काम नहीं किया जाना चाहिए. राज्य सरकार के लिए जनता ने कांग्रेस पार्टी को जनादेश दिया, वहीं केन्द्र सरकार बनाने के लिए प्रदेश से भाजपा के 28 सांसद लोकसभा भेजे. उन्होंने कहा कि वे केन्द्र सरकार द्वारा किए जा रहे भेदभाव को उजागर करने के लिए और प्रदेश के गरीब और वंचित वर्ग के राहत, पुर्नवास के लिए राशि दिए जाने की मांग करेंगे.

वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने सभी सांसदों से दलगत राजनीति से ऊपर उठकर दिल्ली में साथ चलकर प्रदेश हित में केन्द्र सरकार से मांग करने तथा मांग पूरी नहीं होने पर विरोध प्रदर्शन करने की अपील की है.
पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के सांसदों को पत्र लिखने पर पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार करते हुए कहा कि ‘दिग्विजय सिंह का स्वभाव है चिट्ठी लिखने का. वो कभी अपने पुत्र को, कभी सीएम को तो कभी मंत्रियों को चिट्ठी लिखते रहते हैं. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि दिग्विजय सिंह सिर्फ कांग्रेस सरकार की नाकामियों से ध्यान हटाने के लिए चिट्ठी लिख रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here