महाराष्ट्र मामले में हरीश ने केन्द्र पर सत्ता अपहरण का अरोप लगाया

0
204

देहरादून। महाराष्ट्र की राजनीति में भारी उठापटक चल रही है। मामला अब सुप्रीम कोर्ट में है। इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने महाराष्ट्र के घटनाक्रम पर बोलते हुए केंद्र पर सत्ता का अपहरण करने का आरोप लगाया है। उत्तराखंड में सत्ता का संघर्ष साल 2016 में जिस तरह हाईकोर्ट तक पहुंचा था। कुछ ऐसा ही घटनाक्रम इन दिनों महाराष्ट्र में भी जारी है। जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। उत्तराखंड के उन्हीं पलों को याद करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने केंद्र सरकार और महाराष्ट्र के राज्यपाल पर करारा प्रहार किया है।
हरीश रावत ने कहा कि आज न्याय संविधान सभी की परीक्षा है और यह लोकतंत्र की एक कठिन घड़ी है। उन्हें उम्मीद है कि जिस तरह उत्तराखंड में न्यायपालिका ने लोकतंत्र की रक्षा की, कुछ इसी तरह महाराष्ट्र में भी न्याय पालिका के माध्यम से लोकतंत्र की रक्षा होगी। हरीश रावत ने महाराष्ट्र के गवर्नर पर हमला करते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने गवर्नर के पद का दुरुपयोग करवाते हुए सत्ता का अपहरण किया है और इसके लिए उन्हें न्याय पालिका से प्रताड़ना मिलेगी। हरीश रावत ने जल्द ही महाराष्ट्र में कांग्रेस गठबंधन की सरकार बनने की भी उम्मीद जताई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here