थराली /चमोली कैलाश जोशी अकेला देहरादून से सुभाष पिमोली थराली से संयुक्त रिपोटिंग

शराब की दुकान के आगे धरने पर बैठे जनप्रतिनिधि

देहरादून : लॉकडाउन के बीच चमोली जिले के देवाल विकासखण्ड में एक नया बवाल शुरू हो गया है इस बार हए बवाल की वजह है देवाल स्थित शराब की दुकान लॉकडाउन 3.0 में सरकार के आदेश के बाद खुल गई है ऐसे में शराब के शौकीनों की शराब की दुकान के आगे लगी लंबी कतार की तस्वीरें भी देशभर के अलग अलग कोनो से सामने निकल कर आई ऐसे में देवाल स्थित शराब की दुकान पर पहले ही दिन से लगी लंबी कतार के बाद देवाल के जनप्रतिनिधि भी शराब की दुकान के विरोध में धरने पर बैठ गए ,जनप्रतिनिधियों ने यहां शराब की दुकान के बाहर धरना देते हुए प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की ,धरना दे रहे ब्लॉक प्रमुख देवाल, और जिला पंचायत सदस्य सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने लॉकडाउन अवधि तक ठेका बन्द रखने की मांग की

दरसल मंगलवार को ब्लॉक प्रमुख दर्शन दानू के नेतृत्व में जनप्रतिनिधियों ने उपजिलाधिकारी को एक ज्ञापन सौंपते हुए कहा था कि शराब की दुकान खुलने से सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही हैं और इसके साथ ही शराब की दुकान से रात रात को भी ग्राहकों को शराब की बिक्री की जा रही है इसके साथ ही ओवररेटिंग को लेकर जनप्रतिनिधियों ने प्रशासन को कार्यवाही की मांग करते हुए लॉकडाउन की अवधि में शराब की दुकान बंद करने की मांग की थी

शराब की दुकान को लेकर दो पक्षो में हंगामा, प्रशासन देखता रहा, सोशियल डिस्टेंडिंग की उड़ी धजिया,

देवाल स्थित शराब की दुकान की बंदी को लेकर लॉकडाउन के बीच दो पक्षो में जमकर हंगामा हुआ ,इस हंगामे के बीच हुड़दंगियों ने सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां भी उड़ाई और ये सब हुआ तहसील प्रशासन और पुलिस प्रशासन के सामने ही ,हालांकि हाथ मे लठ लिए पुलिस के जवान दोनो पक्षो को समझाते ही रहे और शराब की दुकान के आसपास भीड़ जमाये लोगो को हटाने का प्रयास भी करते रहे लेकिन सामाजिक दूरी फिर भी बन न सकी

कोरोना वायरस के लिए किए गए लॉकडाउन के बीच शराब की दुकान खुलने से कोरोना संक्रमण को बढ़ावा मिलने का हवाला देते हुए देवाल के ब्लॉक प्रमुख दर्शन दानू,अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ आज सुबह से ही अंग्रेजी शराब की दुकान के आगे धरने पर बैठे रहे जिसके बाद शराब की दुकान बंद भी हो गयी

लेकिन मामला तब बिगड़ा जब देवाल यूथ क्लब के कुछ युवा विक्रम नेगी, तेजपाल रावत ,,जितेंद्र बिष्ट महावीर नेगी उपप्रधान हाट समेत अन्य कई युवा हाथ मे दफ़्ती लिए सड़क पर नारेबाजी करने लगे ,सड़क पर नारेबाजी कर रहे दूसरे पक्ष ने मांग की है कि देवाल में इससे पहले भी 65 दिनों तक शराब की दुकान का विरोध किया गया लेकिन नतीजा कुछ भी नही निकला ऐसे में धरना प्रदर्शन कर रहे अनशनकारियों पर कमीशनखोरी का आरोप लगाते हुए देवाल यूथ क्लब के सदस्यों ने मांग की की लॉकडाउन की अवधि तक शराब की दुकान का विरोध न किया जाए और यदि अनशनकारी धरने से उठते हैं तो वे इन जनप्रतिनिधियों के खिलाफ धरना देंगे ,साथ ही सड़क पर नारेबाजी कर रहे इस गुट ने कहा कि पूर्ण शराबबंदी की मांग पर वे अनशनकारियों के समर्थन में हैं

वहीं देवाल के ब्लॉक प्रमुख दर्शन दानू ने बताया कि उनका अनशन कोरोना से बचाव के लिए किए गए लॉकडाउन की अवधि तक शराब की दुकान बंद किये जाने को लेकर था ,ताकि गांव गांव में शराब से माहौल खराब न हो लेकिन अब वे देवाल में शराब की दुकान की पूर्णबन्दी की मांग करते हैं और अनिश्चितकालीन धरना आज से ही उनके द्वारा शुरू किया गया है

देवाल बाजार में शराब की दुकान के लिए किए गए इस विरोध के बीच लोगो ने सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई ,हालात इस कदर रहे कि मानो सड़को पर इस तरह के हुजूम के लिए ही लॉकडाउन की अवधि में ग्रीन जोन में छूट दी गयी हो
धरना स्थल पर धरना शुरू होने के 6 घंटे बाद तक भी उपजिलाधिकारी थराली धरना स्थल पर नही पहुंचे हालांकि उनके द्वारा तहसीलदार थराली को धरना स्थल पर भेजा गया, लेकिन धरने के 6 घंटे बाद तक भी प्रशासन और अनशनकारियों के बीच सकारात्मक वार्ता नही हो पाई तो वहीं तहसीलदार थराली सुदर्शन बुटोला ने पूरे मामले पर चुप्पी साधते हुए मीडिया के सम्मुख कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया

थराली चमोली देवाल स्थित शराब की दूकान को लेकर चल रहा था अनशन, पुलिस ने जबरन उठा कर आन्दोलनकारीयों को भेजा जेल ,

 

देवाल की शराब की दुकान को लेकर देवाल प्रमुख दर्शन दानू, जिला पंचायत सदस्या आशा धपोला, जेस्ट प्रमुख जानकी देवी सहित अपने सैकड़ो कार्यकर्ताओ सहित 2 दिनों से धरने पर बैठे थे उनकी माँग थी लोकडाउन के दौरान शराब की दुकान को बंद किया जाय दूकान को बाजार के बीच से हटाया जाय ओवर रेटिंग रोकी जाय जिसको लेकर उप जिला अधिकारी को ज्ञापन भी शोपा गया था आज ज़ब आंदोलन कारी अपना धरना दे रहे थे सुबहः से ही भारी पुलिस बल तेनाद किया गया था वही आंदोलनकारियो को समझाने उप जिला अधिकारी किशन सिंह नेगी थाना प्रभारी धनजय पवार धरना स्थल पर पहुँचे तो आंदोलकारी अपनी मागो पर अड़े रहे प्रशासन के खिलाप नारेबाजी करते रहे तब पुलिस ने लगभग एक दर्जन आंदोलन कारीयो को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया
इन लोगो को लोकडाउन के उलंघन डिजास्टर मैनेजमेंट की धारा 188 i p c, 269, 272 के तहत मुकदमा दर्ज किया जा रहा है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here