देहरादून। राज्य में बढ़ते कोरोना मरीजों के बीच आज मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह ने कहा कि अगर जान रहेगी और जीवन रहेगा तो रोजगार भी मिल जायेगा।
यह बात उनके द्वारा राज्य में आने वाले प्रवासियों को रोजगार की व्यवस्था के मामले में कही गयी। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी सबसे बड़ी चुनौती लोगों की जान बचाने की है। अगर जीवन रहेगा तो धीरेकृधीरे सब ठीक हो जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर जीवन है तो रोजगार भी मिल ही जायेगा।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का कहना है कि 31 मई के बाद चारधाम यात्रा को चरणबद्ध तरीके से शुरू किया जायेगा। धार्मिक स्थलों को खोले जाने पर पर्यटकों की आवाजाही भी शुरू होगी तथा लोगों का काम काज भी शुरू हो जायेगा। उन्होने कहा कि अभी आनलाइन दर्शन आरती का लाभ श्रद्धालु उठा सकते है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि लाकडाउन में रहकर तथा सभी गतिविधियों को रोककर सरकार और समाज किसी का भी काम नहीं चल सकता। इसलिए हमें धीरे धीरे प्रतिबंन्धों से बाहर आना ही होगा। उन्होेने कहा कि हमें कोरोना के साथ ही जीने की आदत डालनी होगी। हमे सीखना होगा कि इस बीमारी से बचकर हम कैसे इसके साथ ही अपनी सामाजिक और आर्थिक तथा राजनीतिक गतिविधियों को जारी रख सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here