पटना। गृहमंत्री अमित शाह की बिहार रैली को राजद नेता तेजस्वी यादव ने महामारी संकट के बीच एक राजनीतिक अवसरवाद करार दिया है। रैली से एक दिन पहले शनिवार को तेजस्वी यादव ने कहा, देश संकट में है लेकिन भाजपा बिहार में चुनावी बिगुल फूंकने की तैयारी में है। शाह की रैली सिफ एक अवसरवाद है। उन्होंने कहा, एनडीए चुनाव जीतने के लिए किसी भी हद तक जा सकता है।बिहार विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार पर लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों के साथ सौतेला व्यवहार करने का भी आरोप लगाया। राजद इसे आगामी विधानसभा चुनाव में बड़ा मुद्दा बनाने की तैयारी में है। तेजस्वी यादव ने उम्मीद जताई है कि सांविधानिक वर्चस्व और गरीब समर्थक समान विचारधारा वाले सभी दल राज्य की विभाजनकारी और विफल सरकार के खिलाफ एकजुट होंगी।
साथ ही उन्होंने विपक्ष के दरार के दावों को खारिज करते हुए कहा कि किसी भी लोकतंत्र में विरोधाभासी विचारधारा होना स्वस्थ है। तेजस्वी का बयान राजद के गरीब अधिकार दिवस कार्यक्रम से एक दिन पहले आया है। राजद इसके जरिये प्रदेश में शाह की रैली पर पलटवार करने की तैयारी में है। तेजस्वी ने कहा, केंद्र और राज्य दोनों जगह एनडीए सरकार लोगों के कल्याण में विफल रही है।उन्होंने कहा, लोगों की जिंदगी बचाना सरकार बनाने से ज्यादा जरूरी है। उन्होंने सवाल किया कि क्या रैली में अमित शाह प्रवासी मजदूरों के दर्द पर बात करेंगे? नीतीश इन मजदूरों की मुसीबतें कम करने में विफल रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here