नई दिल्ली।कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर सोनिया गांधी का एक साल का कार्यकाल को 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है। इसे बढ़ाने के लिए जल्द ही कांग्रेस वर्किंग कमेटी (ब्ॅब्) की बैठक होगी। कांग्रेस के एक पदाधिकारी ने कहा कि पार्टी के संविधान के अनुसार कार्यकाल के विस्तार के लिए बैठक की आवश्यक्ता होती है। पार्टी को अपना निर्णय चुनाव आयोग को सूचित करना होगा।
उन्होंने कहा कि महामारी को रोकने के लिए 25 मार्च से लागू कोरोनो वायरस लॉकडाउन के कारण नए अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया शुरू नहीं की जा सकी है। उनकी नियुक्ति के तुरंत बाद पिछले साल अक्टूबर-नवंबर में महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव हुए। उसके बाद झारखंड और दिल्ली में भी मतदान हुआ। सीडब्ल्यूसी ने पिछले साल 10 अगस्त को राहुल गांधी द्वारा अपना इस्तीफा वापस लेने से इनकार करने के बाद सोनिया गांधी को पार्टी के अंतरिम अध्यक्ष के रूप में नामित किया था। राहुल गांधी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में पार्टी की अपमानजनक हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़ दिया था। कांग्रेस को सिर्फ 52 सीटों पर जीत मिली थी।
पिछले साल 25 मई को हुई सीडब्ल्यूसी की बैठक में राहुल गांधी ने कांग्रेस नेताओं से अपने बेटों के हितों को पार्टी के ऊपर रखने के का आरोप लगाया था। साथ ही यह भी कहा था कि कुछ नेताओं ने अपने गढ़ से इसी कारण से चुनाव भी गंवा दिया था।
पिछले साल 10 अगस्त को आयोजित कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में सोनिया गांधी ने फिर से पार्टी का नेतृत्व करने के आग्रह को स्वीकर किया था। उन्होंने अगले पूर्णकालिक अध्यक्ष बनने तक के लिए अंतरिम अध्यक्ष का पद स्वीकार किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here