जिस बुनियाद पर खड़ा होगा आधुनिक बीजेपी कार्यालय, उस ज़मीन की जांच होनी चाहिए:उमा

0
93

इधर बीजेपी कार्यालय का भूमिपूजन,उधर जनता बीजेपी राज में कर रही त्राहिमाम त्राहिमाम: उमा सिसोदिया ।

जिस बुनियाद पर खड़ा होगा आधुनिक बीजेपी कार्यालय, उस ज़मीन की जांच होनी चाहिए:उमा

बीजेपी ने आज देहरादून में अपने नए कार्यालय का भूमि पूजन किया जिसमें देहरादून से मुख्यमंत्री समेत कई मंत्री,विधायक,सांसद मौजूद थे तो वहीं दिल्ली से राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा,केंद्रीय मंत्री निशंक,अनिल बलूनी की उपस्थिति में भूमिपूजन का आयोजन किया गया। 80 करोड़ से बनने वाले इस कार्यालय में पूरी सरकार मौजूद थी ,आप प्रवक्ता ने बयान जारी करते हुए कहा ,पूरी सरकार जिस भूमिपूजन पर बड़ी बड़ी बाते कर रही थी क्या वो जमीन से जुड़ी जानकारी सार्वजनिक करेंगे, कैसे रानी पद्मावती की ज़मीन सरकार के संस्था तक किस माध्यम से पहुंची। आज राष्ट्रीय अध्यक्ष अपने सरकार और कोरो ना के दौरान अपनी उपलब्धियां गिना रहे थे तो ये जानकारी भी देते कैसे ये शहर के बीच मौजूद ज़मीन बीजेपी संस्था तक पहुंची। सरकार ये जानकारी भी जनता के बीच सार्वजनिक करे। उमा सिसोदिया ने कहा,बीजेपी नेताओं चाहे उत्तराखंड हो या इनके केंद्रीय नेतृत्व किसी को उत्तराखंड की जनता से कोई सरोकार नहीं है। ये बस जनता के सामने एक दूसरे की पीठ थपथपाने के अलावा कुछ नहीं करते। आप प्रवक्ता ने कहा,उत्तराखंड सरकार से हर दूसरे दिन कोर्ट सवाल पूछ रही,चाहे वो हेल्थ सेक्टर की दुर्दशा हो,छात्रवृत्ति घोटाले पर हो, कोवीड को लेकर हो , लेकिन सरकार संवेदनहीन बनी है। जनता त्राहिमाम कर रही। प्रदेश के युवा बेरोजगारी की मार से जूझ रहे हैं आत्महत्या को मजबूर हैं , पूरे प्रदेश में पानी को लेकर त्राहिमाम मचा हुआ है, 102 साल की बुजुर्ग महिला को पानी के लिए आंदोलन करना पड़ रहा है। इससे बड़ा दुर्भाग्य इस प्रदेश के लिए क्या होगा। उमा सिसोदिया ने कहा कि जनता को बीजेपी दफ्तर से कोई सरोकार नहीं है। बीजेपी दफ्तर बनने से जनता का हित नहीं होने वाला बल्कि जनता को सहूलियत चाहिए जो सरकार देने में नाकाम साबित हुई है। बीजेपी केंद्रीय अध्यक्ष ने उत्तराखंड सरकार की जमकर तारीफ की लेकिन आप पार्टी जेपी नड्डा जी से यह सवाल पूछती है कि नवरात्रों में एक ओर भव्य कार्यालय का उद्घाटन तो दूसरी ओर सैकड़ों दुकानों में तोड़फोड़ कर व्यापारियों को सड़क पर ले आना क्या यह सही है, कोरोना काल में रोजगार छिन जाने पर कई युवाओं ने आत्महत्या कर ली,सड़कों पर उतर आए लेकिन सरकार खामोश है और रोजगार के गलत आंकड़े पेश कर बेरोजगारों के साथ भद्दा मज़ाक कर रही है। आज प्रदेश का हर वर्ग सरकार की नाकामी के चलते परेशान है और आत्महत्या को मजबूर हो रहा। आप प्रवक्ता ने कहा, बहुत हो गया अत्याचार,अब आम आदमी पार्टी जनता के साथ किसी भी कीमत पर नाइंसाफी नहीं होने देगी और सरकार को एक बार फिर आगाह करती है अंधी चकाचौंध से बाहर निकल कर जनता के हित के बारे में फिक्र करें , अन्यथा आप कार्यकर्ता सड़कों पर उतर कर आपको जनता के साथ अब किसी भी तरह की ज्यादती नहीं करने देगी ।