नैनीताल में दुर्गा पूजा का आगाज, मां के दर्शन को उमड़े भक्त

0
610

नैनीताल: सरोवरनगरी नैनीताल में दुर्गा पूजा का आगाज हो गया है. मां दुर्गा की मूर्तियों को पूरे विधि-विधान, रीति-रिवाजों और परंपराओं के अनुसार प्राण-प्रतिष्ठा कर भक्तों के दर्शन के लिए स्थापित किया गया है. वहीं, दूर-दराज के लोग माता के दर्शन के लिए नैना देवी मंदिर का रुख कर रहे हैं

मां की मूर्तियों की प्राण-प्रतिष्ठा करने से पहले 9 जल स्रोतों के जल से मां को स्नान कराया गया, जिसके बाद बंगाली रीति-रिवाज और वाद्य यंत्रों के साथ मां की आरती की गई. इसके साथ ही मां दुर्गा महोत्सव का आगाज हो गया. ये महोत्सव 25 अक्टूबर तक चलेगा और दशहरे के दिन मां की मूर्ति को मंदिर परिसर में भ्रमण कराने के बाद नैनी झील में विसर्जित कर दिया जाएगा, जिसके साथ ही दुर्गा महोत्सव का समापन भी हो जाएगा

वैसे तो दुर्गा पूजा पश्चिम बंगाल का मुख्य त्योहार है. मगर कुछ सालों से नैनीताल के बंगाली समाज के लोग भी इस धार्मिक त्योहार को बड़े ही धूम-धाम से मना रहे हैं. इसी कड़ी में कुछ बंगाली परिवार के लोगों ने मां नैना देवी मंदिर में मां दुर्गा की पूजा-अराधना की. वहीं, बाहर से आने वाले पर्यटक भी मां दुर्गा की पूजा-अर्चना कर उनसे सुख समृद्धि का आशीर्वाद लेते हैं. नैनीताल में भी इन दिनों दुर्गा पूजा की धूम है, जिसमें बंगाली समुदाय के साथ-साथ हर वर्ग के लोग बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं

नैनीताल में बंगाली समाज के लोग हर साल शारदीय नवरात्र के अवसर पर दुर्गा महोत्सव को बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं. लेकिन इस बार कोरोना महामारी के खतरे को देखते हुए सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के तहत मनाया जा रहा है. मंदिरों में आने वाले भक्तों की थर्मल स्कीनिंग और सैनिटाइजेशन करने के बाद ही भक्तों को मंदिर के भीतर प्रवेश दिया जा रहा है. ताकि अन्य लोगों में कोरोना का संक्रमण को फैलने से रोका जा सके