बंसल को प्रत्याशी बनाए जाने पर कार्यकर्ताओं ने मनाया जश्न, आज करेंगे नामांकन

0
21

उत्तराखंड के राज्यसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने नरेश बंसल के नाम पर मुहर लगाई है. इसके बाद से नरेश बंसल घर में बधाई संदेश देने वालों का तांता लगा हुुआ है.

देहरादून: उत्तराखंड से राज्यसभा की एक सीट के लिए बीजेपी ने नरेश बंसल को प्रत्याशी घोषित किया है. जिससे बीजेपी कार्यकर्ता काफी खुश हैं. वहीं नरेश बंसल आज नामांकन दाखिल करेंगे. अंतिम समय में बीजेपी संगठन ने जिस नाम पर मुहर लगाई है, उससे पार्टी में प्रेशर पॉलटिक्स नहीं बल्कि कॉडर का दबदबा बरकार है. पार्टी ने अपने पुराने और संघी चेहरे नरेश बंसल पर भरोसा दिखाते हुए कई दिग्गजों कि गलतफहमी को दूर कर दिया है. वहीं नरेश बंसल आज नामांकन करेंगे, जिसकी तैयारियां पूरी हो गई हैं.

राज्यसभा सीट के लिए बीजेपी ने पार्टी के वरिष्ठ नेता नरेश बंसल के नाम की घोषणा की. साथ ही कई सारी अटकलों पर विराम लगा दिया है. ऐन वक्त पर पार्टी प्रेशर पॉलिटिक्स, प्रशासनिक अनुभव और सियासी पहुंच सभी धरे के धरे रह गए. किसी को भी उम्मीद नहीं थी नरेश बंसल के नाम पर मुहर लग सकती है, क्यों की अटकलों का बाजार गर्म था. पार्टी ने शॉर्टकट नहीं बल्कि, बल्कि पुराने चेहरे और विश्वासपात्र नेता पर फिर से भरोसा जताया है.

Dehradun

राज्यसभा प्रत्याशी बनाए जाने पर कार्यकर्ताओं ने मनाया जश्न.

बंसल के घर देर रात तक मना जश्न

राज्यसभा चुनाव के नाम की घोषणा होते ही नरेश बंसल के घर 21 दिन पहले ही दीपावली जैसा जश्न मनाया जाने लगा. नरेश बंसल के मोबाइल पर ही नहीं घर पर भी लोगों के बधाई संदेश आने लगे. पार्टी के संगठन महामंत्री अजय भी नरेश बंसल के घर बधाई देने पहुंचे. इतना ही नहीं नरेश बंसल के घर पर जश्न का माहौल देर रात तक चलता रहा. वहीं वे नामांकन हेतु 2.00 बजे विधानसभा प्रस्थान करेंगे.

Dehradun

कई नेताओं ने घर पहुंचकर दी बधाई.जन्म भूमि और कर्म भूमि देहरादून
नरेश बंसल का जन्म निम्न मध्यम वर्ग के वैश्य परिवार में देहरादून में हुआ. वे 8 साल की आयु में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के संपर्क में आए और स्वयंसेवक बने. इनकी प्राईमरी शिक्षा देहरादून नगर पालिका के स्कूल में और इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई हिन्दीं माध्यम विद्यालय देहरादून में हुई है. 14 साल की आयु में उन्होने संघ की प्राथमिक शिक्षा ग्रहण की. बाद में तीसरे साल नागपुर से शिक्षा प्राप्त की. वहीं, उन्होंने DAV कॉलेज देहरादून से M-COM की शिक्षा प्राप्त की. नरेश बंसल की जन्म भूमि और कर्म भूमि उत्तराखंड की राजनधानी देहरादून ही रही है.

राजनीतिक सफर

उत्तराखंड भाजपा की शीर्ष पंक्ति में अपना नाम दर्ज कराने वाले नरेश बंसल का राजनीतिक सफर कई उतार चढ़ाव भरा रहा है. वो वर्तमान में उत्तराखंड सरकार में उपाध्यक्ष बीस सूत्रीय कार्यक्रम और क्रियान्वयन समिति का दायित्व संभाव रहे हैं. बंसल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के समर्पित कार्यकर्ता के रूप में निरंतर संगठन के निर्देशानुसार पर कार्य करते रहे हैं.

  • 4 नवंबर साल 2002 से 4 नवंबर साल 2009 तक पूर्णकालिक कार्यकर्ता के रूप में 7 साल तक प्रदेश महामंत्री (संगठन) बीजेपी उत्तराखंड के दायित्व का निर्वहन किया.
  • साल 2019 लोक सभा चुनाव में प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष का दायित्व संभाला, जिसमें सारी सीटें भाजपा ने जीती.
  • राज्य गठन के बाद 2006 में बीजेपी राष्ट्रीय कार्य-समिति का सफलतापूर्वक आयोजन और पूर्व प्रधानमंत्री स्व.अटल बिहारी वाजपेयी की विशाल जनसभा का सफल आयोजन.
  • साल 2012 से 2019 तक बीजेपी प्रदेश महामंत्री उत्तराखंड का दायित्व निभाया. इसके बाद साल 2017 मे भाजपा की प्रदेश सरकार में फिर से वापसी की.
  • साल 2012 में केंद्र के आदेश पर राज्यसभा के लिए नामांकन किया, लेकिन बाद में उन्होंने अपना नाम वापस ले लिया