मेरठ में Honey Trap गिरोह का हुआ भंडाफोड़, कई राज्यों में फैला है नेटवर्क

0
978

मेरठ. सोशल साइट पर अगर कोई हसीना आपको फ्रेंडशिप का ऑफर दे तो सावधान हो जाइए क्योंकि यह हनीट्रैप भी हो सकता है. जी हां, मेरठ (Meerut) जिले की सर्विलांस सेल और सिविल लाइन पुलिस ने जॉइंट ऑपरेशन में ब्लैकमेलरों के गिरोह का पर्दाफाश किया है. पुलिस ने गिरोह के 3 शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है, जो अब तक कई सफेदपोश लोगों को हनी ट्रैप (Honey Trap) में फंसा कर ब्लैकमेल कर चुके हैं.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि एक शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने राजस्थान निवासी मौसम, कल्लू खान और हनीफ खान को गिरफ्तार किया है, जबकि उनके साथी साहिल और रफीक फरार हैं. आरोपियों के पास से तीन मोबाइल और 17 हजार कैश बरामद किया गया है.

इस तरह चलता है हनी ट्रैप का गेम

सीओ/एएसपी सूरज राय ने बताया कि यह सभी आरोपी राजस्थान के छोटे से गांव में बैठकर ब्लैकमेलिंग का अड्डा चलाते थे, जिसके तहत व्हाट्सएप और फेसबुक पर लड़कियों की फोटो लगाकर विभिन्न राज्यों में रहने वाले प्रभावशाली लोगों को फंसाया जाता था. इसके बाद उनसे अश्लील चैट करके संबंधित ‘शिकार’ को अपनी बातों में फंसाकर उसकी अश्लील वीडियो हासिल कर लेते थे. फिर इस वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देकर आरोपी उससे मोटी रकम वसूलते थे और यह पूरा धंधा ऑनलाइन चलता है.
ब्लैकमेलिंग में रकम देने से किया इंकार तो बदनाम करने की साजिश

एएसपी ने बताया कि अगर हनी ट्रैप में फंसे रईसजादे ने रकम देने से इंकार कर दिया तो उसके अश्लील फोटो वीडियो उसके परिवार के लोगों को भेज देते हैं या फिर उन्हें वायरल कर देते हैं. आरोपियों के पास कई ट्रक होने की भी सूचना मिली है. एएसपी ने बताया कि आरोपियों के गिरोह के तार महाराष्ट्र, दिल्ली, कर्नाटक, मध्य प्रदेश से लेकर यूपी तक फैले हुए हैं. फिलहाल 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. अन्य आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है.